Saas Bahu Jokes in Hindi

शादी के बाद सोनम अपनी सहेली से मिली।
सहेली, “क्या बात है शादी के बाद परेशान सी रहने लगी हो?”
सोनम, “क्या बताऊं यार।
काम करूं तो मेरी सांस फूल जाती है, और ना करूं तो कम्बख्त सास फूल जाती है।”

Lafz Anmol Vichar

लफ्ज़ और उनको बोलने​ का लहज़ा ही होते हैं​ इंसान का आईना, शक्ल का क्या है​ वो तो उम्र और हालात के साथ,​ अक्सर ‘बदल’ जाती है।

Hindi Jokes on Budhapa

बंटू, “जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, दिन-प्रतिदिन इंसान रईस बनता जाता है।”
घंटु, “वो कैसे?”
बंटू, “बूढ़े होने पर चांदी बालों में, सोना दाँतों में, मोती आखों में, शुगर खून में और महंगे पत्थर किडनी में पाए जाने लगते हैं। “

All New Fresh Hindi Joke Ghantu

घण्टु, “मम्मी क्या आपने मुझे पैदा होने से पहले देखा था?”
मम्मी, “नहीं तो बेटा, घण्टु।”
घण्टु, “तो फिर पैदा होने के बाद आपने मुझे कैसे पहचाना?”

Mohabbat Gunaah Shayari

मैंने तो बस मोहब्बत ही की थी,
फिर क्यों लग रहा है ऐसा,
कोई गुनाह किया हो जैसा।

~ शायरी नेटवर्क

Funny Hindi Joke for Kids

एक बच्चा स्कूल से रोते हुए जल्दी घर वापस आ गया।
मम्मी : “क्या हुआ बेटा तू रो क्यों रहा है और आज इतनी जल्दी घर क्यों आ गया?”
बच्चा : “मम्मी मैंने तो बस एक मच्छर मारा था और मैडम ने मुझे मारा और स्कूल से भगा दिया।”
मां : “एक मच्छर मारने पर तुझे क्यों मारा और स्कूल से भी भगा दिया?”
बच्चा : “मम्मी, मगर मच्छर उसकी गाल पर बैठा था।”

Laut Ke Aane Wala Judai Shayari

Dhoop Ke Sath Gaya Sath Nibhaane Wala,
Ab Kahan Aayega Voh Laut Ke Aane Wala …

~ Wazeer Aaga

Bebasi Tanhai Shayari on Zindagi

Mera Saya Hai Mere Sath Jahan Jaayun Main,
Bebasi Tu Hi Bata Khud Ko Kahan Paayun Main!

~ Sulaiman Areeb

Ajeeb Din Shayari on Life

न सो सका हूँ न शब जाग कर गुज़ारी है
अजीब दिन हैं सुकूँ है न बे-क़रारी है

~ ज़ुहूर नज़र

Tum Se Mulaqat Shayari

Muddatein Guzreen Mulaqat Huyi Thi Tum Se,
Fir Koi Aur Na Aaya Nazar Aaine Mein …

~ Haneef Kaifi

Aawara Yaadein Shayari

Aye Aawara Yaadon Fir Se Fursat Ke Lamhaat Kahan,
Hume Ne To Sehra Mein Basar Ki Tum Ne Guzaari Raat Kahan!

~ Rahi Masoom Razaa


ऐ आवारा यादो फिर ये फ़ुर्सत के लम्हात कहाँ
हम ने तो सहरा में बसर की तुम ने गुज़ारी रात कहाँ
~ राही मासूम रज़ा

Zindagi Ka Dard Shayari

Zindagi Hai Ya Koi Tufaan Hai,
Hum To Is Jeene Ke Haathon Mar Chale …

– Khwaza Meer ‘Dard’